क्या आप जानते हैं पति और पत्नी में पति की उम्र ज्यादा क्योँ होती हैं ??विडिओ में जानिये कारण ….

0
231

” भारतीय संस्कारों में पति को हमेशा इज्जत देना

सिखाया जाता है, क्या इसीलिए उसकी उम्र बड़ी होनी

चाहिए “?

हम लोग बचपन से देखते आ रहे हैं, हमारे दादा-दादी, मम्मी-पापा, चाचा-चाची, मामा-मामी और अब तो हमारे भाई-भाभी के बीच भी उम्र का गैप जरूर है। लेकिन क्यों? क्या यह जरूरी है? क्या दोनों की उम्र एक जैसी नहीं हो सकती? कुछ लोग मानते हैं कि पति का उम्र में बड़ा होना इसलिए भी जरूरी है ताकि वह इतना लायक बन सके कि अपने घर-परिवार एवं पत्नी की खुशियों का ख्याल रखने के लिए अपेक्षित आमदनी ला सके। लेकिन इसी पर एक वैज्ञानिक पहलू भी मौजूद है।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि एक लड़के और लड़की में परिपक्वता यानी कि मैच्योरिटी के स्तर में अंतर होता है। लड़कियां, लड़कों से जल्दी मैच्योर हो जाती हैं, जबकि लड़कों को भावनात्मक रूप से मैच्योर होने में अधिक समय लगता है। यह अंतर 3 से 4 साल का हो सकता है।

विशेषज्ञों के अनुसार यदि समान उम्र के वर-वधु की शादी हो जाए तो उनमें आपसी समझ पनप नहीं पाती। बल्कि उम्र का अंतर होने से दोनों एक-दूसरे की बात को समझ पाते हैं और यही एक सफल शादी की निशानी है।लेकिन आज के दौर में ऐसी भी सफल शादियां रही हैं जहां लड़की, लड़के से उम्र में काफी बड़ी होती है, 10 या 12 साल भी। फिर भी इसका उनके वैवाहिक जीवन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। यहां मैं किसी बड़ी पर्सनैलिटी की बात नहीं करूंगी।

यह बात तो आम लोगों ने भी आज़मा कर देखी है कि पत्नी की उम्र बड़ी होने से इसका शादी पर कोई असर नहीं होता। परन्तु लोगों की सोच यह मानती है कि  पत्नी यदि उम्र में बड़ी हुई तो अपना अधिकार ज्यादा दिखाएगी।

अगर हमारा ये लेख पसंद आया तो Comment आपको Box में अपनी राय अवश्य दें !

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here