जाने कौन सी जगह ली थी भगवान कृष्ण ने अपनी जिन्दगी की अंतिम सांसे !

0
49

आज हम आपको उस पावन स्थान के बारे में बता रहे है जहां इस सृष्टि के पालनहार ने त्यागा अपना शरीर. आपको बता दे कि यह स्थान दुनिया भर में भालका तीर्थ के नाम से प्रसिद्द है. ऐसा कहा जाता है यहाँ श्रीकृष्ण को बाण लगा था. इसी जगह पर हरि ने अपनी अंतिम सांसे ली थी.

द्वापर युग के सबसे बड़े नायक, संसार को गीता कल्याण और जीवन का सत्य बताने वाले भगवान श्री कृष्ण और उनके आखिरी लम्हों की गवाही देता है ये पवित्र धाम. यह धाम गुजरात के सौराष्ट्र में मौजूद है. सोमनाथ मंदिर से इसकी दुरी मात्र 5 किमी की है. इस मंदिर में जो भगवान श्री कृष्ण की मूर्ति विराजित है वो भी उनके आखिरी दिनों को बयां करती है. 

ऐसा माना जाता है कि इसी स्थान पर एक बहेलिये ने तीर से श्रीकृष्ण को भेद दिया था. इस मंदिर में उस बहेलिये की मूर्ति श्री कृष्ण के सामने हाथ जोड़े, क्षमा मांगते हुए खड़ी हुई है. बहेलिया अपनी गलती पर पछता रहा था इसलिए कृष्ण जी ने उसे माफ़ कर दिया था. इस मंदिर के पास हिरण नदी है, जहां आज भी भगवान के चरणों के निशान मौजूद हैं.

पूरी दुनिया में यह स्थान देहोत्सर्ग तीर्थ के नाम से मशहूर है. जिस स्थान से बहेलिये ने गधा समझ कर नटवर पर तीर चलाया था वह स्थान भी कोई कम नहीं है. आज उस स्थान को बाणणगंगा के नाम से जाना जाता है और वहां पर समुद्र के अंदर शिवलिंग भी बना हुआ है. यहां आकर भक्त अपनी मन्नते मांगते है, जो जल्दी ही पूरी भी होती है. हर रोज यहां हजारों की संख्या में कृष्ण भक्त आते है.

दोस्तों आपको किस तरह की खबरे अच्छी लगती है कृपया Comment Box में बताएं, ताकि हम आपके लिए वैसी खबरे लेकर आते रहे !

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here