पिछले 118 सालों से मोटी जंजीरों में गिरफ्तार है ये पेड़, आखिर इसकी खता क्या है !

0
64

118 सालों से मोटी मोटी जंजीरों में गिरफ्तार है ये पेड……

क्या आप कभी ये बात सोच सकते हैं कि भला कोई पेड़ भी आपका पीछा कर सकता है? शायद कभी नहीं सोचेंगे लेकिन, एक दफा ऐसा हुआ हैं और इसी अपराध की सजा में बरगद का एक पेड़ पिछले 118 सालों से मोटी जंजीरों में जकड़ा हुआ है.
आपको ये सुनने में अजीब जरुर लगेगा पर ये सच है, और ये पेड़ पूरी दुनिया के लोगों के लिए एक अजूबा व कुतूहल का विषय बना हुआ है. अपने बहुत सारे  पेड़ देखे होंगे पर इस पेड़ को देखने के लिए आपको पाकिस्तान जाना पड़ेगा. आखिर कैसे बना यह पेड़ अपराधी.
इसकी एक बहुत दिलचस्प कहानी हैं ये साल 1898 की बात है, रात के समय जेम्स स्क्वेयड नाम का एक अंग्रेज अफसर शराब के नशे में धुत था, और कहीं पर जा रहा था. लांडी कोटल नाम की जगह से गुज़रते हुए जहां पर बरगद का यह पेड़ है.

जब वह उस पेड़ के पास पहुंचा तो उसे लगा कि यह पेड़ उसका पीछा कर रहा है, और उसने फ़ौरन अपने अधिकारियों को उसे गिरफ्तार करने का हुक्म दे दिया ,और उस पेड़ को मोटी मोटी जंजीरों में गिरफ्तार कर लिया ,उस समय भारत का हिस्सा रहा यह पेड़ आज पाकिस्तान में है.
अंग्रेजो का शाशन खत्म होने के बाद भी इतने समय से यह पेड़ जंजीरों में लिपटा हुआ है,और इस पर एक तख्ती भी लगाई गई थी, जिसपर ये लिखा गया था I’m Under Arrest।आज तक इसकी जंजीरें हटाई नहीं गई हैं. और वह तख्ती भी इस पर उसी तरह से लगी हुई है.

 

बरगद के इस विशाल वृक्ष को जंजीरों में बंधा हुआ देखना लोगों के लिए उत्सुकता का विषय बन हुआ है. इसीलिए लोंग दूर-दूर से इसे देखने के लिए आते हैं, स्थानीय लोग भी इसे टूरिस्ट प्लेस की ही तरह से देखते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here