डोकलाम को लेकर भारत के पास 2 रास्ते, कब्जा करो या फिर चीन को मारों !

0
550

जैसा कि बीते एक महीने से भारत और चीन के बीच सिक्किम बॉर्डर के साथ लगे क्षेत्र डोकलाम को लेकर तनाव बना हुआ है दोनों देशों के सैनिक बॉर्डर पर हथियार लिए खड़े हुए है और यहां से ना तो चीनी आर्मी पीछे हटने को तैयार है और ना ही भारतीय सैनिक. ऐसे में भारत के पास सिर्फ दो ही विकल्‍प बचते हैं या तो डोकलाम पर कब्‍जा किया जाए या फिर चीन को मारा जाए.

image credit 

यदि भारत और चीन के बीच जंग होती भी है तो चीन का साथ कोई भी देश नही देगा. आज चीन के भारत के साथ मिलाकर 17 दुश्मन देश हो गए है और वे सभी चीन के खिलाफ भारत का साथ दे सकते है.

दरअसल, चीन इस क्षेत्र को लेकर भारत पर लगातार दवाब बनाने की कोशिश कर रहा है लेकिन, उसका कोई भी दवाब काम नहीं आ रहा. यहां तक की चीन ने तिब्‍बत में युद्ध अभ्‍यास के लिए जुटाए गए हथियारों को जंग की तैयारियों से जोड़ कर पेश कर दिया. चीन ये बात अच्छे से जानता है कि भारत अब 1962 वाला भारत नही रहा उससे युद्ध करना आज चीन के लिए काफी भारी पड़ सकता है.

चीन का मानना है कि भारत के पास तीन विकल्‍प हैं जबकि भारत उसके तीसरे विकल्‍प को पूरी तरह खारिज करता है मुंबई में काउंसिल जनरल रह चुके पूर्व चीनी डिप्लोमेट ने चीन की सरकारी मीडिया को दिए एक इंटरव्‍यू में कहा कि डोकलाम पर भारत तीन विकल्‍प में से किसी एक विकल्‍प को चुन सकता है. उनका कहना है कि भारत या तो यहां से पीछे हटे या डोकलाम पर कब्‍जा करे या फिर चीनी फौज का सामना करे.

अब जाहिर है कि चीन का ये बयान एक बार फिर धमकाने वाला हो सकता है लेकिन, चीनी मामलों के जानकारों का कहना है कि इस क्षेत्र से भारत का पीछे हटने का कोई मतलब ही नहीं बनता है. ऐसे में विकल्‍प सिर्फ दो ही बचते हैं. या तो डोकलाम पर कब्‍जा किया जाए या फिर जंग.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here