ऐसे हुई थी रक्षा बंधन की शुरुआत, जाने एक अनोखी कहानी !

0
104

वीडियो: जानिए रक्षाबंधन की शुरुआत कैसे और क्यों हुई थी?

हर बहन इस दिन का साल भर इन्तजार करती है. हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन यह पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है. सभी बहने अपने भाई के हाथ में राखी बांधने के लिए जाती है. भाई उम्र भर अपनी बहिन की रक्षा का वादा करते हुए उन्हें कुछ उपहार देता है. पुत्री भी अपने पिता को यह धागा बांधती है. कभी-कभी सार्वजनिक रूप से किसी नेता या प्रतिष्ठित व्यक्ति को भी बांधी जाती है.

कुछ लोग भगवान के दरबार में जाकर भगवान को भी राखी बांधते है. आजकल तो वृक्षों को भी राखी बांधनी शुरू हो चूंकि है. अलग-अलग राज्य व धर्म के लोग अपनी मान्यताओं के अनुसार इस पर्व को मनाते है. इस बार यह त्यौहार 7अगस्त को मनाया जाएगा. इस दिन ग्रहण होने के कारण राखी बांधने का शुभ समय है 11 बजकर 7 मिनट से लेकर दोपहर एक बजकर 50 मिनट तक. इस पावन पर्व को मनाने के पीछें कई कहानियां है. अगर इसके इतिहास के बारे में सुना जायें तो यह पर्व भाई-बहन का नहीं है.

वर्तमान में यह त्योहार भाई-बहन के अटूट प्रेम को समर्पित है. वैसे तो इसका प्रचलन सदियों पुराना है. इन सबके बावजूद क्या आपको इसके इतिहास के बारे में पता है? क्या आप जानते है सबसे पहला रक्षा सूत्र किसने किसको बांधा था और क्या था इसके पीछें का कारण. कैसे हुई रक्षा बंधन की शुरुआत ? इसका इतिहास इतना पुराना है कि आप जानकार हैरान हो जायेंगे.

आज हम आपके इन सभी सवालों का जवाब देने एक विडियो लाए है. यह वीडियो हमने यूट्यूब से प्राप्त की है ताकि आपको इस पर्व से जुड़ें इतिहास के बारे में अवगत करा सकें. चलिए अब देखें नीचें दी गई विडियो.

दोस्तों आपको किस तरह की खबरे अच्छी लगती है कृपया Comment Box में बताएं, ताकि हम आपके लिए वैसी खबरे लेकर आते रहे !

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here