विडियो : चन्द्रमा हुए छठे स्थान पर गोचर,5 राशियाँ के लिए खुले धन द्वार अब होगा मंगल ही मंगल !

0
96

चन्द्रमा बदल देंगे आप सभी का भाग्य और खुशियाँ होंगी आपके दरवाजे पर !

आज हम आपको कुछ ऐसी जानकारी देने जा रहे हैं जिसके बारे में आप बिलकुल भी नहीं जानते हैं.चन्द्रमा माता मन मकान और पानी का कारक है,यह सवा दो दिन में राशि को बदलता है और जो भी फ़ल कुफ़ल आदि देता है वह राशि बदलने के सवा दो घंटे में देता है.

मन का कारक होने से चन्द्रमा नक्षत्रानुसार भी फ़ल देता है यह सवा दो घंटे में एक सौ पचास बार मन को बदलता है.राहु के साथ होने पर यह जीवन भर चिन्ता देने वाला होता है और शनि के साथ होने से कभी अपने मन से काम नही कर पाता है।

ज्योतिष से जुडी कुछ ऐसी बातें हैं जो कभी कोई किसी को नहीं बताना चाहता पर हम अपने पाठकों के लिए कुछ ऐसी ही बातें आज इस पोस्ट के माध्यम से लेकर आए हैं.आपको हम बता दें कि चन्द्रमा जब पहले भाव में होता है तो भाग्यानुसार काम करता है जो भी कार्य होते है उनके अन्दर मन की इच्छा के अनुसार फ़ल मिलते है,सुख सुविधाओं की बढोत्तरी हो जाती है और दूर के मित्रों से शुभ समाचार मिलते है अच्छे भोजन के लिये निमंत्रण के लिये भी इस चन्द्रमा का बल मिलता है.चन्द्रमा जब दूसरे भाव में होता है तो सम्मान में बाधा आती है निरादर होता है व्यर्थ का नुकसान होता है विवाद और मनस्ताप से बुद्धि खराब होती है,आर्थिक नुकसान तब मिलता है जब बारह आठ या छ: में कोई चन्द्रमा का शत्रु ग्रह बैठा हो.

चन्द्रमा जब तीसरे भाव में होता है तो मुकद्दमा आदि में विजय भी मिलती है जातक को शान्त मूर्ति के रूप में देखा जाता है और जातक के द्वारा जो भी बात की जाती है वह जनता के हित की जाती है सम्पन्नता की प्राप्ति होती है सुख सुविधाओं की बढोत्तरी होती है,लाभ के लिये आशायें जगती है,कोई छोटी यात्रा भी होती है.

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here