विडियो : सिंह राशि – दिवाली की रात यहाँ जला दें एक दीपक, पैसा बरसने से कोई रोक नहीं पाएगा !

0
86

हिन्दू धर्म में राशि के हिसाब से अगर काम किए जाते हैं तो उसका बहुत ज्यादा फल मिलता है.आज सिंह राशि के लोगों के लिए हम एक ऐसा ही टोटका लेकर आए हैं !

इस माह शनि का गोचर आपके द्वितीय भाव से होगा जिसके चलते काम-धंधे को लेकर आप लंबी यात्राएं कर सकते हैं. जॉब में आपको कम मेहनत से ज्यादा फ़ायदा मिलने के संकेत हैं. बड़े अधिकारियों की कृपा भी आप पर जमकर बरसेगी. गुरु का पहले भाव से गोचर आपको कार्यक्षेत्र में मान-सम्मान व पद-प्रतिष्ठा की प्राप्ति करवा सकता है.

सिंह (Leo) राशि चक्र की पाचवीं राशि है.और पूर्व दिशा की द्योतक है। इसका चिन्ह शेर है. इसका विस्तार राशि चक्र के 120 अंश से 150 अंश तक है.सिंह राशि का स्वामी सूर्य है, और इस राशि का तत्व अग्नि है.इसके तीन द्रेष्काण और उनके स्वामी सूर्य,गुरु, और मंगल, हैं.इसके अन्तर्गत मघा नक्षत्र के चारों चरण,पूर्वाफ़ाल्गुनी के चारों चरण, और उत्तराफ़ाल्गुनी का पहला चरण आता है.यह बहुत शक्तिशाली है.

जिन व्यक्तियों के जन्म समय में चन्द्रमा सिंह लगन मे होता है, वे सिंह राशि के जातक कहलाते हैं, जो इस लगन में पैदा होते हैं वे भी इस राशि के प्रभाव मे होते है.पांडु मिट्टी के रंग वाले जातक,पित्त और वायु विकार से परेशान रहने वाले लोग, रसीली वस्तुओं को पसंद करने वाले होते हैं, कम भोजन करना और खूब घूमना, इनकी आदत होती है, छाती बडी होने के कारण इनमे हिम्मत बहुत अधिक होती है और मौका आने पर यह लोग जान पर खेलने से भी नही चूकते.इस लगन में जन्म लेने वाला जातक जीवन के पहले दौर मे सुखी, दूसरे में दुखी और अन्तिम अवस्था में पूर्ण सुखी होता है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here