भारतीय महिला टीम ने वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर फाइनल में जगह बनाकर रचा इतिहास !

0
138

हरमनप्रीत की पारी से 34 साल बाद एक बार फिर हम लॉर्ड्स में खड़े हैं, क्या इतिहास दौहराया जाएगा ?

जैसा की सभी जानते हैं कल भारतीय महिला टीम ने वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर फाइनल में जगह बना ली और एक इतिहास रच दिया. भारतीय टीम अब 23 जुलाई को क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स में मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल खेलेगी.भारत की महिला क्रिकेट टीम जिस तरह से लय मे है तो उम्मीद पूरी है इतिहास रचा जाएगा.

 

image credit 

आज से 34 साल पहले भारतीय पुरुष टीम ने लॉर्ड्स में ही फाइनल खेला था और जीता भी था. एक बार फिर लॉर्ड्स में इतिहास रचने का मौका है.

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बात दें कि ठीक 34 साल पहले कपिल देव की अगुवाई में भारतीय टीम वर्ल्ड कप खेलने इंग्लैंड पहुंची थी तो कोई भी यह मानने को तैयार नहीं था कि ये टीम खिताब जीत पाएगी. पर भारत की टीम ने उस समय इतिहास रचा था जिसमें कपिल देव के योगदान को कोई भी कभी भुला नहीं सकता.

लेकिन पूरे टूर्नामेंट टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया और फाइनल में चैंपियन वेस्टइंडीज़ को मात दी. फाइनल में भारत ने 183 रन बनाए थे और वेस्टइंडीज की टीम मात्र 140 रन ही बना पाई थी. यह फाइनल 25 जून 1983 को खेला गया था.

जैसा की सभी जानते हैं कल भारत की बेटी हरमनप्रीत की यह पारी महिला वर्ल्ड कप के नॉकआउट मैच की सबसे बड़ी पारी है. उनकी पारी के दम पर भारत ने 42 ओवरों के मैच में 4 विकेट पर 281 रनों का स्कोर खड़ा किया वहीं ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम 245 रन आउट हो गई.और भारत को 36 रनों से जीत मिली.

वर्ल्ड कप नॉक आउट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हरमनप्रीत धमाके से ऐसा लगा कि 34 साल बाद कपिल देव की पारी फिर जिंदा हो उठी है. कपिल देव ने भी 1983 के वर्ल्ड कप भारत की खराब हालत में 138 गेंदों में 175 रनों की नाबाद पारी खेली थी.

 

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here