अगर बच्चे के गले में अटक जाए सिक्का, तो बिना देर किए तुरंत अपनाएं ये उपाय !!

0
524

छोटे बच्चे नासमझ होते हैं और आप उनसे सही-गलत की पहचान कर सकने की उम्मीद नहीं कर सकते।

बच्चों की एक आम आदत होती है कि खेलते-खेलते चीजों को मुंह में लेते हैं। जो चीजें उनके मुंह के आकार से बड़ी होंगी उनसे तो बैक्टीरियल इंफेक्शन की संभावना हो सकती है लेकिन मुंह में आ सकने वाली चीज गलती से उनके गले में अटकने की संभावना रहती है।

अक्सर देखा जाता है कि बच्चे सिक्के से खेलते हुए उसे मुंह में ले लेते हैं और सांस लेने के दौरान गलती से यह उनके गले में पहुंच जाता है। सिक्के की जगह यह कोई अन्य ठोस चीज भी हो सकती है। कई बार दुर्घटना टल भी जाती है लेकिन कई बार ऐसा होता है कि वह श्वास नली में अटक जाए। ऐसे में अगर जल्दी से इसे बाहर नहीं निकाला गया तो दम घुटने से बच्चे मौत भी हो सकती है। किसी अनहोनी से बचने के लिए इसका प्राथमिक उपचार जानना जरूरी है।

1. बच्चे को ऐसे में अगर जोर की छींक आ जाए तो श्वास नली में अटकी चीज बाहर आ जाती है इसलिए उसे छींक दिलाने का प्रयास करें।

2. ऐसे में खांसी भी आ सकती है। अगर बच्चा आपकी बातें समझने लायक हो और खांसी आए तो उसे लगातार खांसने को कहें। ऐसा वह तब तक करे जब तक कि कफ ना बन जाए, क्योंकि फिर कफ के साथ श्वास नली में फंसी चीज बाहर निकल सकती है।

3. एक दूसरा तरीका यह है कि बच्चे को थोड़ा आगे की तरफ झुकाएं। अब एक हाथ से उसके सीने को दबाते हुए दूसरे हाथ से पीठ पर लगातार थपकियां दें। यह थपकियां सख्त होनी चाहिए जिससे बच्चे के गले पर दबाव पड़े। इससे भी गले में फंसी हुई चीज बाहर आ जाती है।

पर इनमें से किसी भी का प्रयोग करते हुए ध्यान रखें कि ये केवल प्राथमिक उपचार की तरह की जाने वाली क्रियाएं हैं। अगर थोड़े प्रयासों से गले में अटकी चीज ना निकल रही हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here