अगर आपके हाथों में भी है ये रेखाएं तो आपमें है कुछ ऐसा जो और लोगो में नही है जानिये ??

0
96

हस्त रेखा विज्ञान बहुत ही दिलचस्प विधा है। इसके बारे में हम कितना भी जान लें मगर ये हमेशा कम ही रहता है। आपने देखा होगा कि हमारी हाथों की रेखा देखकर हमारी किस्मत में धन, प्रसिद्धि, शादी, बच्चे, आयु आदि का अंदाजा लगा लिया जाता है। हस्तरेखा शास्त्र की सबसे रोचक बात ये है कि हमें इसके संभावित परिणाम ही मिलते हैं। लेकिन ये भी सच है कि हाथों की रेखा हमारे कर्म के मुताबिक लगातार बदलती रहती है।

जी हां। मतलब यह कि आप अपने काम के जरिए इन्हें बदल सकते हैं। हालांकि कुछ रेखाएं ऐसी भी होती हैं जिन्हें आप बदल नहीं सकते।

आज हम आपको ऐसी ही एक रेखा के बारे में बताने जा रहे हैं। यह किस्मत बदलने के साथ-साथ एक व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति से बिल्कुल अलग भी बनाती है .
जानना नहीं चाहेंगे कि वो कौन-सी रेखा है जो आपको दूसरे से अलग और अधिक ताकतवर बनाती है? तो आइए जानते हैं।

हथेली के इस हिस्से में

‘दैवीय शक्तियां’ महसूस करवाने वाली यह रेखा हाथ में जीवन रेखा के समानांतर होती है, जो कि ऊपरी हिस्से से घुमावदार तरीके से जीवन रेखा के साथ जुड़ी होती है। यह ठीक वैसी ही होती है जैसी कि आप इस तस्वीर में देख सकते हैं।

गार्जियन एंजेल रेखा

यह एक खास प्रकार की रेखा होती है। इसे अंग्रेजी में ‘गार्जियन एंजेल रेखा’ कहा जाता है। हिंदी भाषा में इसे भगवान की खास कृपा दिलवाने वाली रेखा कहा जा सकता है।

दैवीय शक्तियों से बात

‘गार्जियन एंजेल रेखा’ कोई मामूली रेखा नहीं है। शायद कभी आपने किस्से-कहानियों में सुना होगा कि कुछ लोग अपने आसपास दैवीय शक्तियां महसूस कर पाते हैं। कुछ उनसे बात भी कर पाते हैं। ऐसे ही जिन लोगों के हाथ में यह रेखा होती है उन पर भगवान का खास आशीर्वाद होता है।

कम लोगों के हाथो में

हस्त रेखा शास्त्र के अनुसार दैवीय शक्तियों का आभास वो ही लोग कर सकते हैं जिनके हाथों में ये खास रेखा होती है। ये भी सच है कि करोड़ो लोगों में एक ही कोई ऐसा होता है जिसके हाथ में ये खास रेखा होती है।

हर कोई नहीं कर पाता आभास

लेकिन जरा ठहरिए! अगर आपको ऐसा लगता है कि इस खास रेखा को पाने वाले हमेशा दैवीय शक्तियों को अपने आसपास महसूस कर पाते हैं या वो शक्तियां हमेशा उनके आसपास होती हैं तो आप गलत सोच रहे हैं।

जरूरत पर होंगी साथ

जानकारी के अनुसार ऐसा बताया जाता है कि यह रेखा उस समय अपना असर दिखाना चालू कर देती है जब वो व्यक्ति बेहद अकेला हो। उसे किसी अपने की बहुत जरूरत हो।

मिलता है सपोर्ट

जब व्यक्ति निराशा से बुरी तरह ग्रस्त हो। इस निराशा से उबरने का उसके पास कोई चारा ना हो। तब उसकी दैवीय शक्तियां उसकी मदद करती है। भले ही वो उसे दिखाई ना दे लेकिन अपने होने का एहसास दे जाती है।

हैरानी की बात

कहा तो यह भी जाता है कि कुछ लोगों की गार्जियन एंजेल रेखा इतनी शक्तिशाली होती है कि ये लोग मुसीबत के समय खुद ही दैवीय शक्तियों को बुला लेते हैं। वाकई ये बहुत ही हैरान कर देने वाली बात है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here