श्राद्ध के दिनों मे अगर दिखाई दें इनमे से कोई भी एक चीज तो समझ लीजिए आप बनने वाले है करोड़पति !!

0
158

श्राद्ध के समय में बहुत सावधानी बरतने की आवश्यकता है. शास्त्रों में बताया गया है कि इन दिनों कुछ काम है जो श्रावक को बिलकुल भी नहीं करने चाहिए. श्राद्ध में वर्जित कार्य या जो वर्जित पदार्थ होते है उनका भोग नहीं लगाना चाहिए. अपने पितरों की रोज सेवा करें. उनको रोज जल अर्पण करें. रोज उनके नाम का तर्पण करे. ऐसा करने से आपको धीरे-धीरे पता चलने लगेगा कि पितृ आपसे तृप्त हो रहे है या नहीं.

मौजूदा खबर अनुसार बता दें कि शास्त्रों के अनुसार पितरों के लिए किया गया श्राद्ध आपके परिवार के उन मृतकों को तृप्त करता है जो पितृलोक की यात्रा पर हैं. इस तरह अपने पितरों को श्राद्ध के माध्यम से दी गई वस्तु पहुंचती है और वे श्राद्ध करने वाले को आशीर्वाद देते हैं. अधिकतर लोग श्राद्ध पक्ष में नए काम करने से बचते हैं लेकिन जिन लोगों पर पितरो की कृपा होती है, उन्हें नए काम करने से लाभ होता है.

आइए वीडियो के माध्यम से जानते हैं उन संकेतों के बारे में जो बताते हैं कि आप पर पितरों का अशीर्वाद है !!

जानिए उन संकेतों के बारे में जो बना सकते है आपको करोड़पति !!

  • श्राद्धय काल में अचानक धन की प्राप्ति, रुके हुए काम शुरू हो जाना या नए काम शुरू होना पितर कृपा के संकेत हैं.
  • यदि आपके घर के किसी मृत व्यक्ति को याद करते ही आपके कामों में आ रही रुकावटें दूर हो जाती हैं तो आप पर पितरों की विशेष कृपा है.
  • यदि आपको सपने में पितृ यानी पूर्वज खुश और आशीर्वाद देते हुए अक्सर नज़र आते हैं तो आपके पितर आपसे प्रसन्न है.
  • जिन लोगों के अपने माता-पिता से संबंध मधुर होते हैं और घर में कभी किसी की आकस्मिक मौत न हुई हो तो ऐसे परिवारों पर पितरों की विशेष कृपा होती है.
  • जब भी आप कोई नया काम शुरू करें और आपको अपने वरिष्ठ लोगों का लगातार सहयोग मिले तो समझ लें कि आप पर पितरों का आशीर्वाद है.
  • सपने में सांप को अपनी सुरक्षा और सहयोग करते देखना भी पितरों का आशीर्वाद होने का संकेत है.
  • अमावस्या या उस तिथि के आसपास जब लोगों को अकसर नुकसान होता है तब आपको विशेष लाभ होना या वाहन सुख मिलना पितरों की कृपा का इशारा है.
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here