बड़ा खुलासा : हनीप्रीत सिर्फ मोहरा, बलात्कारी बाबा भी कच्चा खिलाड़ी, असली काण्ड तो इसने किया !

0
241

एक बहुत बड़ा खुलासा हुआ है और उसके बारे में जानकर आपके भी होश उड़ना तय है.दरअसल राम रहीम के डेरे में चलने वाली सभी गैरकानूनी गतिविधियाँ राम रहीम के राइट हैण्ड आदित्य इंसा के इशारे पर संचालित होती रही हैं. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आदित्य राम रहीम का प्रवक्ता है !

जैसे की सब जानते हैं कि बलात्कार के दोषी डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की रासलीला की कई कहानियां निकल कर सामने आ रही हैं. उसका घिनौना चेहरा अब बेनकाब होकर दुनिया के सामने आ चुका है. इसी बीच राम रहीम के बारे में एक ऐसा खुलासा हुआ जिसे जानकर हर कोई हैरान है. दरअसल, बाबा अपनी गुफा में जिस महिला को लेकर जाता था, वहां उसे माफी मिल जाती थी.

राम रहीम पर एक और नया शिकंजा कसा, बाबा हैरान ये किसने बताया?

खुद को रॉकस्टार समझने वाले बाबा के डेरे में बलात्कार शब्द का के लिए एक कोड वर्ड था. बाबा अपनी गुफा में जिन महिलाओं के साथ अश्लील हरकतें करता था, उसे गुरमीत राम रहीम की ओर से मिली ‘माफी’ कहा जाता था. जब भी किसी महिला या युवती को राम रहीम के आवास यानी उसकी गुफा में भेजा जाता था, तो बाबा के चेले उसे ‘बाबा की माफी’ बताते थे.

बता दें कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के मामले में रोज एक नया खुलासा होता है. डेरा प्रबंधन कमिटी के डॉ. पी आर नैन ने एसआईटी की जांच में खुलासा किया है कि वहां मोक्ष के लिए भी शव दफनाए जाते थे. यह भी जानकारी मिली है कि डेरे में 600 से ज्यादा कंकाल हैं. इस खबर के बाद अब एक और नया मोड़ आ गया है.इस बार निशाने पर और कोई नहीं बल्कि बाबा राम रहीम का प्रवक्ता आदित्य है जिसके खिलाफ अब कभी भी पुलिस जाँच तेज़ कर सकती है अभी तक ये पुलिस की नजरों से बचा हुआ था और टीवी पर आकर डेरे की तरफ से पक्ष रख रहा था.सूत्रों के अनुसार पता चल रहा है कि बाबा राम रहीम का प्रवक्ता पंचकुला हिंसा का असली मास्टर माइंड है और वो अभी भी पुलिस हिरासत में नहीं लिया गया है.

 

पंचकुला का मास्टर माइंड

आपकी जानकारी के लिए हम बता दें कि बातचीत करने में होशियार आदित्य ही बाबा राम रहीम के लिए डेरे की तरफ से हमेशा मीडिया को हैंडल करता रहा है. यहाँ तक की डेरे में राजनेताओं और दूसरे संगठनों को आदित्य ही मैनेज करता था. इसके अलावा डेरे के सम्बन्ध में पुलिस और प्रशासन से डील का काम भी आदित्य के ही जिम्मे था.आदित्य के अधिकारों का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि राम रहीम के नाम से लेटर लिखने का काम भी वही वही करता था.

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार बताया जा रहा है की बाबा को फिल्मों की तरफ मोड़ने के पीछे और किसी का नहीं बल्कि इसी बाबा के प्रवक्ता का हाथ था.अब पुलिस की जाँच भी इस आदमी की तरफ मुड सकती है और बताया जा रहा है कि आगे चलकर इसकी गिरफ्तारी भी हो सकती है ?

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here