ऐसा रहस्यमयी मंदिर जो बिना सतह के लटका रहता है हवा में, देख कर थम जायेगीं आपकी भी साँसे!!

0
50

आप सभी ने मंदिरों को जमीन में देखा होगा. परन्तु

हम आज जिस मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं वे बिना

सतह के हवा में लटका है.

यह बात सच है कि आमतौर पर मंदिर और मठ जमीन पर बनाए जाते हैं. परन्तु उत्तर चीन के शानसी प्रांत में एक ऐसा मंदिर देखने को मिलता है जो सीधी खड़ी पहाड़ी चट्टान पर बनाया गया है तथा दूर से देखने पर ऐसा लगता है कि यह मंदिर हवा में लटका है. इसलिए चीन में यह मंदिर ‘हैंगिंग टेम्पल’ के नाम से मशहूर है. हवा में खड़ा यह मंदिर शानसी प्रांत के ताथुंग शहर के निकट स्थित है.

 

1400 साल पुराना है यह मंदिर

ऐसा अनुमान लगाया जाता है कि यह मंदिर 1400 साल पुराना है. यह चीन में अब तक सुरक्षित एकमात्र बौध, ताऔ और कम्फ्युसेस तीनों धर्मों में मिश्रित शैली का निर्मित अनोखा मंदिर है. यह मंदिर घनी पहाडियों में फैले एक छोटे से बेनिस में स्थित है. यह मंदिर जमीन से 50 मीटर ऊपर बनाया गया है. दूर से देखने पर ऐसा लगता है कि मानो यह मंदिर अभी गिर जाएगा. क्योंकि ऊपर पहाड़ी चट्टान का एक विशाल टुकड़ा बाहर की ओर बढ़ा हुआ है.

 

मंदिर के अन्दर बने हैं 40 भवन तथा मठ

इस मंदिर में 40 भवन तथा मठ हैं. इनको चट्टान में गढे लकड़ी के फट्टो के साथ जोड़ा गया है. मंदिर के अन्दर प्रवेश बड़ी सावधानी- पूर्वक करना पड़ता है. अगर जरा सी भी लापरवाही हुई तो जान जा सकती है. मंदिर के अन्दर चलने से लकड़ियाँ आवाजें करती हैं. चारो ओर पहाड़ियों से गिरे होने के कारण यहाँ धूप भी नहीं पहुँचती है.

 

क्यों बनाया था यह मंदिर 

इस मंदिर को बनाने की विशेष वजह थी. इसका कारण यह था कि पहले यह घाटी यातायात का प्रमुख मार्ग हुआ करती थी. यहां से भिक्षु और धार्मिक अनुयायी जब गुजरते थे , वे मंदिर में आराधना कर सकते थे. तथा पहले इस घाटी में बाढ़ आया करती थी तो उन लोगों ने बाढ़ के प्रकोप से बचने के लिए यहाँ मन्दिर बनाया. इस प्रकार यह मंदिर अस्तित्व में आया.

 

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here