बड़ी खबर : लालू यादव सदमे में जब नीतिश कुमार ने दिया इस्तीफा !

0
209

नीतीश कुमार के इस्तीफ़े से लालू को लगा सदमा, घातक होंगी ये 3 बातें !

जैसा की अभी अभी ख़बर आयी है कि बिहार के CM नीतीश कुमार ने इस्तीफ़ा दे दिया है , राजनीतिक गलियारों में और देश की राजनीति में इस ख़बर के बाद भूचाल आ गया है , हालाँकि अभी तक उनके इस्तीफ़े की वजह साफ़ नहीं हो पायी है लेकिन इस पर भाजपा के गिरिराज किशोर ने कहा है कि नीतीश कुमार के पास ज़्यादा विकल्प नहीं थे ।

image credit

बता दें कि इस इस्तीफ़े के बाद जेडीयू और भाजपा की सरकार बनने की ख़बरें तेज़ हो गयी हैं , तेजस्वी यादव का इस्तीफ़ा ना देना इसकी बेहद बड़ी वजह हो सकती है । लेकिन इस इस्तीफ़े के बाद लालू प्रसाद यादव को बेहद गहरा झटका लगा है और उन्होंने ये सोचा भी नहीं था कि नीतीश कुमार अचानक ऐसा फ़ैसला लेंगे । आइए आपको बताते हैं वे पाँच बातें जिनसे ये इस्तीफ़ा लालू के गले की हड्डी बन सकता है ।

एक – लालू का सारा परिवार घोटालों में जाँच की मार झेल रहा है और इसी वजह से तेजस्वी यादव का इस्तीफ़ा माँगा गया था , अब अगर नीतीश और भाजपा की सरकार बनती है तो लालू पर राज्य और केंद्र दोनो सरकारों का दवाब होगा और उनकी जन्म पत्री पूरी खंगाली जाएगी , इससे उनकी मुसीबतें काफ़ी बढ़ेंगी ।

दो – लालू के पास ऐसा कोई भी तरीक़ा नहीं है कि वे जोड़ तोड़ करके सरकार बना लें , मतलब या तो भाजपा और JDU की सरकार बनेगी या फिर चुनाव दोबारा होंगे , ऐसे में भ्रष्टाचार के दाग़ लगे लालू को दोबारा राजनीतिक गलियारों में कोई पूछेगा इसकी सम्भावना बेहद कम है , लालू की बेटी तक भ्रष्टाचार में CBI जाँच का सामना कर रही है इसलिए आगे की राह उनके परिवार के लिए आसान नहीं होगी ।

तीन – ये इस्तीफ़ा बिहार में लालू की राजनीति को पूरी तरह ख़त्म भी कर सकता है क्यूँकि इस इस्तीफ़े से साफ़ संदेश ये जाएगा कि नीतीश कुमार किसी भी क़ीमत पर भ्रष्टाचार सहन नहीं करेंगे और ज़्यादा दवाब की सूरत में पद छोड़ देंगे , इससे नीतीश की छवि देश की राजनीति में बेहद ताक़तवर हो गयी है और इससे लालू का टिक पाना लगभग असम्भव सा लगता है ।

कुल मिलकर ये कहा जा सकता है कि लालू प्रसाद यादव जो कोर्ट से साबित भ्रष्टाचार के अपराधी हैं , उनके लिए आगे की रह बिलकुल आसान नहीं होगी , नीतीश ने सचमुच मास्टर स्ट्रोक खेल दिया है , बता दें कि केजरीवाल ने भी ऐसे ही इस्तीफ़ा दिया था और उसके बाद हुए चुनावों में उन्हें एकतरफ़ा जीत मिली थी । सहानुभूति लहर भी नीतीश के पक्ष में बहेगी इसमें कोई दो राय नहीं है ।  लेख लिखने तक ये ख़बर भी आ रही है कि नीतीश कुमार इस्तीफ़े पर दोबारा विचार करने को राज़ी हो गये हैं ये विडियो देखें

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here